Skip to main content

कहां से खरीदें फास्‍टेग ।where do i purchase fastag

 दोस्‍तों नमस्‍कार स्‍वागत है आपका व्‍हीकल गाइडर में आज हम आपको बताने जा रहे है कि कैसे आप अपनी गाड़ी के लिए fastag खरीद सकते हैं । दोस्‍तों सबसे सही तरीका है आप किसी भी गाड़ी़ के शोरूम जाएं और वहां से खरीदें । या तो फिर ऑनलाइन खरीदें । 

Car insurance tips| Car insurance | Add ons in car insurance | Motor Insurance | car ka insurance kaise le | zero dep| first party / comprehensive | pay as you go

दोस्तों नमस्कार स्वागत है आपका vehicleguider में आज हम आपको बताने जा रहे हैं की आपको गाड़ी मे इन्श्योरेन्स लेना है तो आप कैसे ले सकते है और हम आपको इन्श्योरेन्स की जानकारी दे रहे हैं | आज के युग मे गाड़ी सभी के पास होती है | सभी लोग उसमे इन्श्योरेन्स भी लेते है | लेकिन एक सही इन्श्योरेन्स लेना आपके लिए बेहद जरूरी है , तो हम आपको बताने जा रहे है की कौन सा इन्श्योरेन्स लेना आपके लिए सही रहेगा 

  1.  थर्ड पार्टी बीमा { Third Party Insurance }Liability : इस इन्श्योरेन्स या बीमा को लेने से आपको सामने वाली गाड़ी जिससे आपका accident हुआ है उसका cover मिलेगा या उसका बीमा मिलेगा , third party बीमा लेने मे सामने वाली गाड़ी जिससे आपका accident हुआ है उसमे बैठे लोगों का insurance cover मिलेगा साथ ही पब्लिक प्रॉपर्टी {Public property }को भी कवर किया जाएगा और यह compulsury insurance है यह आपको लेना ही पड़ेगा , सबसे कम पैसों मे आपको यह बीमा मिल जाएगा और साथ ही किसी Police Checking के दौरान भी आप इसे दिखा सकते हैं , यदि आपके पास यह बीमा नहीं है तो आपके ऊपर चालानी  कार्यवाही भी हो सकती है अब इसमे एक और बीमा जोड़ा गया है जिसे लेना भी cumpulsury है वो है 

           Personal Accident cover {PA}: यदि आपने 1 बंदे का PA लिया है तो जो आपकी गाड़ी मे जो driver है उसके लिए एक मुआवजा आएगा , उसकी हानि को लेकर , उसमे वो driver या तो बहुत ज्यादा घायल injured  है और hospitalised है , या उसकी मृत्यु {death} हो जाती है , तो उसे एक मुआवजा मिलेगा , और ये third party cover के साथ लेना जरूरी है |यदि 4 लोगों का PA बीमा लिया है तो सभी चारों को बीमा से कुछ मुआवजा दिया जाएगा |
  
     
       2. फर्स्ट पार्टी बीमा {First Party insurance  / Comprehensive insurance }od /od premium :  इस बीमा में साथ में आपकी गाड़ी भी कवर होगी , इसका अर्थ यह है की यदि आपकी गाड़ी का एक्सीडेंट होता है तो इसमे गाड़ी मे जो टूट फुट हुई है वह भी इन्श्योरेन्स कंपनी सुधारेगी जैसे ,
                                                                Tyre के पैसे insurance company नहीं देगी 
                                                           Plastics में 50% ही पैसे मिलेंगे बीमा कंपनी द्वारा 
                                       जो part आपने अलग से लगवाया है उसके भी पैसे नहीं मिलेंगे वो cover नहीं होगा 
 
तो मतलब आपने फर्स्ट पार्टी बीमा लिया लेकिन उसमे सभी चीज कवर नहीं होगी तो आप क्या करोगे आप Add ons डालोगे   जैसे 
                            Engine Protect 
                            Zero depth 
                           return to invoice 

जब आप फर्स्ट पार्टी बीमा के साथ addons लोगे या फिर थर्ड पार्टी बीमा लोगे तब आखरी होगा Taxation , जो भी बीमा आप लोगे उसमे आपको tax भी देना हो और वो होगा जीएसटी जो की सरकार को जाएगा 



3. Pay as you go : यह अभी globaly trial phase मे चल रहा है , इसमे शायद आपकी गाड़ी मे trackor लगा दिया जाएगा , और इसको आप तब ले सकते है जब आपको गाड़ी चलाने की जरूरत हो इसमे जब आप गाड़ी चलाने निकलें उससे पहले इसे ले लें , ये उनके लिए सही है जिनकी driving limited है 


तो अब बात आती है की आप कहा से insurance ले सकते हो तो यदि आपको first party insurance लेना है तो आप जिस शोरूम या कंपनी से गाड़ी ली है उसमे से ही लीजिए , उससे क्या होगा की उस कंपनी की जिस insurance company से tie up होगा तो आपको claim मिलने मे आसानी होगी , नहीं तो आप बहुत से online माध्यम से भी ले सकते हैं , यदि आप थर्ड पार्टी बीमा लेना चाहते है तो आप online की तरफ जाइए | 

बहुत सी अलग अलग कंपनी है जो गाडियों का घर का और हेल्थ इंश्योरेंस देती है । 


Jaise Sbi life insurance , sbi car insurance 
 National insurance , iffco tokio , bharti AXA etc 

   

Comments

Popular posts from this blog

कार के टायर मे हवा कितनी होनी चाहिए | tyre pressure in car | vehicle guider | AIR PRESSURE IN CAR

vehicle guider दोस्तों नमस्कार  स्वागत है आपका हमारे दूसरे ब्लॉग मे , अक्सर ये सवाल सभी के मन में उठता है की Car के टायर मे हवा कितनी होनी चाहिए , इसका सीधा जवाब नहीं दिया जा सकता , क्युकी सभी कारों के ड्राइवर का दरवाजा {Driver door} के पास उसका tyre pressure लिखा होता है और यह अलग अलग हो सकता हैं , इसे आप अपनी कार के Door में देख सकते हैं ,इसमे{Car Tyre Pressure} जो हैं उसमें {Normal Load} जिसमें गाड़ी में सामान्य व्यक्ति हों 1 या 2 व्यक्ति ,या फिर{Full Load} गाड़ी मे जब सभी व्यक्ति हों या कार के Boot में समान रखा हो |आपको अपनी कार मे इसे गौर से देखकर हवा भरवानी हैं | कार के टायर मे हवा का मापन {Tyre Pressure Unit} Pond में होती है सामान्य तौर पर 30 Pond से 40 Pond के बीच कारों मे Tyre Pressure हो सकता है लेकिन ये अलग अलग हो सकता है और यह कार के Tyre size पर निर्भर करता है | कार के टायर में हवा जरूर संतुलित होनी चाहिए जिससे Riding Exprience अच्छा हो | कार में हवा का सही संतुलन ही कार को सही से चलवाता है । एक प्रश्‍न और उठता है कि कार टायर में नाइट्रोजन  डलवाए कि सामान्‍य हवा डलवाए तो इस

which is the best tyre in india for cars | भारत मे कौन से टायर सबसे अच्छे माने जाते हैं |vehicleguider

  दोस्तों नमस्कार स्वागत है आपका #vehicleguider के तीसरे ब्लॉग में , हम आपको बताएंगे की आपकी गाड़ी के लिए सबसे अच्छे टायर किस कंपनी के हो सकते हैं , इससे पहले आपको tyre की company के बारे में जानना होगा ,सबसे ये हैं टायर की बड़ी कंपनी :        TOP TYRE COMPANY IN INDIA  MICHELIN  BRIDGESTONE MRF APOLLO CEAT GOODYEAR           MICHELIN{ मिचेलेन } एक बड़ी टायर की कंपनी है जिसमे आपको Scooter , bycycle से लेकर aircraft तक के टायर यह कंपनी उपलब्ध कराती है , इस कंपनी का headoffice Clermont France मे हैं | इस कंपनी के टायर महंगे जरूर होते है लेकिन मजबूत होते हैं | मिचेलन मे बहुत से tyre models आते हैं जो की अलग अलग खासियत रखते हैं |         BRIDGESTONE {ब्रिजस्टोन } एक बड़ी टायर निर्माता कंपनी है जो आपको best tyre उपलब्ध करती है , जिसमे आपको ब्रिजस्टोन के टायर मे आपको less Tyre Sound देखने को मिलता है , यानि जब आप गाड़ी चलते हैं तो आपको टायर की आवाज तेज नहीं आती जो की Riding Exprience को बेहतर बनाता है| ब्रिजस्टोन का headoffice KURUME FUKUOKA JAPAN मे हैं ब्रिजस्टोन मे भी बहुत से टायर मोडल देखने क

क्या होता है wheel alignment ? car wheel alignment in hindi | पहिया संतुलन wheel alignment of car in hindi

दोस्तों नमस्कार स्वागत है आपका vehicleguider में आज हम आपको बताने जा रहे हैं , कार में पहिया संतुलन कैसे होता है , how to do wheel alignment of car ? wheel alignment tips in hindi , दोस्तों कार के पहिये न उसके  लिए जरूरी है , व्हील अलाइन्मन्ट , wheel alignment for car is very much compulsury , कार या गाड़ी के पहिये न घिसे या घिसे तो सभी तरफ से बराबर घिसे उसको हम , इसलिए हम सभी गाड़ी मे पहिया संतुलन wheel alignment करवाते हैं, दोस्तों हमारी गाड़ी के टायर पहले तो एक दूसरे के Parallel होना चाहिए , और सभी टायर ground या road के perpendicular होना चाहिए जैसा की आप तस्वीर मे देख रहे हैं   यदि ऐसा नहीं है तो आपकी गाड़ी का Alignment Out हो गया है  यदि आपकी गाड़ी के टायर align नहीं होंगे तो आपकी गाड़ी के tyre सभी तरफ से बराबर न घिसकर एक तरफ से ज्यादा घिसेंगे और एक तरफ से कम घिसेंगे,आपकी गाड़ी की handling proper नहीं होगी और वो एक ही तरफ जाएगी,इसे आप ऐसे समझ सकते है की या तो आपकी गाड़ी left की तरफ ज्यादा जाने लगेगी या फिर आपकी गाड़ी right की तरफ ज्यादा जाने लगेगी |आपकी कार सीधी नहीं चलेगी  अब हम आपको बत